AMAR UJALA

दाना-पानी के जुगाड़ में प्रवासी पक्षी पहुंचे हैं बिहार; मगर बरेला झील में हो रहा शिकार, ऐसे हुआ खुलासा


हाइलाइट्स

बरेला झील में पानी से 4 फीट ऊपर लगाया पक्षियों को फंसानेवाला जाल.
रुस और अमेरिका से आनेवाली पक्षियों का सरेआम किया जा रहा शिकार.
जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया, पटना यूनिट की टीम के दौरे में हुआ खुलासा.

वैशाली. जंदाहा थाना स्थिति ऐतिहासिक बरेला झील से एक वीडियो सामने आया है. इसमें साफ देखा जा सकता है कि यहां बड़े पैमाने पर प्रवासी पक्षियों का सरेआम शिकार किया जा रहा है. मामले का खुलासा तब हुआ जब जूलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के पटना इकाई की 4 सदस्यीय टीम जांच करने बड़ेला झील पहुंची. ढाई सौ से ज्यादा एकड़ में फैले बरैला झील में चारों तरफ पक्षियों को फंसानेवाले जाल बिछाए हुए थे. इतना ही नहीं इस जाल में फंसे आधा दर्जन के करीब जीवीत और मृत पक्षियों को भी बरामद किया गया है.

बता दें कि पांच दिवसीय यात्रा पर वैज्ञानिक डॉ गोपाल शर्मा के नेतृत्व में टीम वैशाली पहुंची थी. जहां से बरेला झील का सर्वे करने टीम जंदाहा पहुंची. लेकिन जंदाहा के बरेला झील पहुंचने के बाद टीम ने जब झील के चारों तरफ लगा हुआ जाल देखा तो टीम के सदस्य भी भौंचक्के रह गए.

सुशील मोदी बोले- तेजस्वी को बनाए सीएम! जहरीली शराब पीने वालों की मौत रुक जाएगी

सामने आए वीडियो में साफ तौर से दिखाई पड़ रहा है कि पटना इकाई की 4 सदस्यीय टीम के सदस्य एक नाव से झील का सर्वे करने निकले हैं और रास्ते पर उन्हें पंछियों को फंसानेवाले जाल का सामना करना पड़ रहा है. दरअसल, इन विदेशी पक्षियों का बड़े पैमाने पर शिकार किया जा रहा है. सूत्रों की मानें तो ग्यारह सौ रुपए से लेकर 22 सौ रुपए जोड़ा तक इन विदेशी मेहमानों का सौदा किया जाता है.

” isDesktop=”true” id=”5080831″ >

मामला सामने आने के बाद डिस्ट्रिक्ट फॉरेस्ट ऑफिस से अधिकारियों को साथ लेकर लगाए गए जाल को सीज किया गया. जाल इतने ज्यादा और इतने बड़े पैमाने में लगाए गए थे कि 3 दिनों तक जाल काटने का काम चलता रहा. बता दें कि अमेरिका, रसिया और नॉर्दन कंट्रीज से बेहद खूबसूरत पंछियों का झुंड नवंबर के लास्ट सप्ताह में बरेला झील आता है. जो फरवरी के अंतिम सप्ताह तक रहता है.

Tags: Bihar News, Vaishali news


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button