AMAR UJALA

UGC : अब हिंदी अंग्रेजी सहित इतनी भाषाओं में कर सकेंगे बीए, बीएससी, बीकॉम की पढ़ाई, किताबों के अनुवाद पर काम शुरू


नई दिल्ली. शैक्षणिक सत्र 2023-24 से बीए, बीएससी, बीकॉम की पढ़ाई के लिए आपके पास भाषा चुनने के कई विकल्प होंगे. यूजीसी के चेयरमैन प्रोफेसर एम जगदीश कुमार ने कहा है कि अगले शैक्षणिक सत्र से भाषा माध्यम चुनने के लिए 12 विकल्प मिलेंगे. मतलब बीए, बीकॉम और बीएससी की पढ़ाई हिंदी और अंग्रेजी समेत 12 भारतीय भाषाओं में करने का मौका मिलेगा. उन्होंने बताया कि यूजीसी ने किताबों को भारतीय भाषाओं में अनुवाद के लिए प्रकाशकों से बात कर ली है.

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत किताबों का अनुवाद हिंदी, असमिया, बंगाली, गुजराती, कन्नड़, मलयालम, मराठी, उड़िया, पंजाबी, उर्दू, तमिल, तेलगू जैसी 12 भारतीय भाषाओं में करने का काम शुरू किया गया है.

यूजीसी होगी नोडल एजेंसी 

यूजीसी चेयरमैन ने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के तहत इंजीनियरिंग के बाद अन्य ग्रेजुएशन प्रोग्राम के छात्रों को भी भारतीय भाषाओं में पढ़ाई का मौका उपलब्ध कराना है. उन्होंने बताया कि यूजीसी नोडल एजेंसी के रूप में कार्य करेगी. यूजीसी का कार्य होगा प्रकाशकों को पाठ्य पुस्तकों की पहचान, अनुवाद उपकरण और संपादन के लिए विशेषज्ञों के संबंध में सभी जरूरी सहायता और समर्थन प्रदान करना. इसका मकसद सस्ती किताबों को डिजिटल फॉर्मेट में सस्ती कीमतों पर उपलब्ध कराना है. उन्होंने बताया कि भारतीय लेखकों को नॉन टेक्निकल विषयों पर भारतीय भाषाओं में किताबें लिखने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा.

जारी रहेगा तीन साल का ग्रेजुएशन प्रोग्राम

यूजीसी चेयरमैन ने बताया कि अगले शैक्षणिक सत्र से डिग्री प्रोग्राम चार साल का किया जा रहा है. इसका मतलब यह नहीं कि तीन साल का प्रोग्राम बंद हो जाएगा. यह छात्र पर निर्भर करेगा कि वह तीसरे साल एग्जिट कर जाता है या चार साल की डिग्री लेगा. इसके अलावा मल्टिपल एंट्री एग्जिट की सुविधा भी मिलेगी.

ये भी पढ़ें-
Railway Recruitment 2022-23: रेलवे में 10वीं पास के लिए 2400 से अधिक नौकरियां, बिना परीक्षा केवल मेरिट से हो रही है भर्ती
Govt Jobs : 50 हजार शिक्षकों की भर्ती अटकी, टीईटी परीक्षा भी नहीं हो पाएगी, हाईकोर्ट के इस फैसले से लगा ग्रहण

Tags: Education news, Ugc


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button