AMAR UJALA

Shraddha Walkar Murder: न किसी से बात और न मुलाकात; अपने परिवार से भी नहीं मिलना चाहता आफताब, जानें जेल में कैसे रहता है


नई दिल्ली: दिल्ली के मेहरौली इलाके में अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर (Shraddha Walkar Murder) की गला घोंटकर हत्या करने और उसके शव के टुकड़े करने के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला (Aftab Poonawalla)अपने परिवार से नहीं मिलना चाहता है. तिहाड़ जेल में बंद आफताब पूनावाला ने अपने परिवार के सदस्यों से मिलने इनकार कर दिया है. अब तक आफताब ने अपने परिवार के किसी सदस्य या दोस्तों से मुलाकात नहीं की है, इतना ही नहीं, उसने फोन पर भी किसी से बात नहीं की है. वह जेल में अपने में ही मगन रहता है और किताबें पढ़ता रहता है. इसकी जानकारी जेल अधिकारियों ने दी है.

अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, जेल अधिकारियों ने कहा कि 28 वर्षीय आफताब पूनावाला 26 नवंबर से तिहाड़ में कैद है, मगर उसने अभी तक जेल प्रशासन को अपने परिवार या दोस्तों के नाम जमा नहीं किए हैं, जो जेल में उससे मिल सकते हैं. हालांकि, आफताब ने अपने साथी कैदियों से कहा है कि वह इस सप्ताह के अंत में किसी से मिल सकता है. हालांकि, उसने अब तक जेल प्रशासन को आगंतुक के नाम का विवरण नहीं सौंपा है.

श्रद्धा मर्डर केस: शव के 35 टुकड़े करने वाले आफताब ने ढाए थे सितम; श्रद्धा के दोस्तों ने सुनाई जुल्म की दास्तां

जेल मैनुअल के मुताबिक, हर कैदी को जेल के इंटरव्यू रूम में हफ्ते में दो बार अपने परिवार के सदस्यों या दोस्तों से मिलने की इजाजत होती है. किसी कैदी को किसी बाहरी व्यक्ति से मिलने से पहले जेल अधीक्षक परिवार के सदस्यों और दोस्तों की लिस्ट जमा करवाता है और उनका सत्यापन करता है और उसके बाद ही आगंतुकों को सप्ताह में दो बार जेल आने की लिखित अनुमति देता है और कैदी को मिलने देता है.

रिपोर्ट के मुताबिक, एक जेल अधिकारी ने कहा कि हमने आफताब पूनावाला को दो कैदियों के साथ एक सेल में रखा है, जहां चौबीसों घंटे सीसीटीवी की निगरानी में है. उसके साथी कैदी, जिन पर चोरी का आरोप है, यह भी सुनिश्चित कर रहे हैं कि वह खुद को नुकसान न पहुंचाए या किसी अन्य कैदी द्वारा हमला न किया जाए. फुटेज के माध्यम से उस पर नजर रखने वाले हमारे अधिकारियों ने देखा कि वह अपने साथी कैदियों से बहुत कम बात करता है. वह अपने सेल में पढ़ने में समय बिताता है. हमारे अधीक्षक ने आफताब को मुलाकात और फोन यूज करने के नियमों के बारे में जानकारी दी है, मगर उसने कहा कि वह किसी से मिलना या बात नहीं करना चाहता है.

जेल अधिकारियों की मानें तो वे श्रद्धा हत्याकांड के आरोपी आफताब पूनावाला के इस व्यवहार से हैरान हैं क्योंकि वह फोन पर भी अपने परिवार से बात नहीं करता है. इतना ही नहीं, उसने जमानत अर्जी वापस ले ली है, जो उसके वकील ने पिछले सप्ताह अदालत में दायर की थी. जेल में आफताब केवल अपने वकील से ही बात करता है. बता दें कि बीते दिनों आफताब ने शनिवार को दिल्ली की अदालत को सूचित किया था कि उसने ‘वकालतनामा’ पर हस्ताक्षर किए थे, लेकिन उसे जानकारी नहीं थी कि उसकी ओर से जमानत याचिका दायर की जाएगी.

न्यायाधीश द्वारा यह पूछे जाने पर कि क्या वह जमानत याचिका वापस लेना चाहता है, पूनावाला ने कहा कि मैं चाहता हूं कि वकील मुझसे बात करें और फिर उसने जमानत याचिका वापस ले ली. न्यायाधीश ने कहा कि जमानत याचिका लंबित रहेगी और जब आरोपी वकील से मिल लेगा, तभी यह फैसला होगा कि जमानत याचिका पेश की जाएगी या नहीं. अदालत ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 22 दिसंबर की तारीख तय की है. बता दें कि आफताब पर श्रद्धा की हत्या का इल्जाम है. आफताब को 12 नवंबर को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था.

Tags: Crime News, Delhi police, Shraddha murder case, Shraddha walker


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button