AMAR UJALA

सुक्खू सरकार पर पूर्व CM जयराम का हमला बोले-कैबिनेट का गठन भी 5 साल बाद चुनाव से ठीक पहले होगा

शिमला. हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस सरकार के गठन को सोमवार को पूरा एक सप्ताह का वक्त हो गया है. 11 दिंसबर को सुखविंदर सिंह सुक्खू और मुकेश अग्निहोत्री ने सीएम और डिप्टी सीएम की शपथ ली थी. लेकिन अब आठ दिन बाद भी सुक्खू सरकार की कैबिनेट का गठन नहीं हो पाया है. कैबिनेट में ज्यादा तलबगारों की संख्या के चलते अब तक गठन नहीं हो पाया है. वहीं, सूबे के पूर्व सीएम जयराम ठाकुर ने कैबिनेट गठन में देरी को लेकर सरकार पर निशाना साधा है.

पूर्व सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि जनता को गुमराह करके सत्ता में आई कांग्रेस अब वादों से मुकरने लगी है. उन्होंने गारंटी दी थी कि 10 दिन के भीतर वादे पूरे करेंगे, लेकिन अब मुख्यमंत्री कह रहे हैं हम पांच साल में कभी भी गारंटियां पूरी करेंगे. लगता है मंत्रिमंडल का गठन भी पांच साल बाद चुनाव से ठीक पहले होगा. इससे पहले जयराम ठाकुर ने सीएम सुखविदंर सिंह के कोरोना संक्रमित होने पर जल्द स्वस्थ होने की कामना की थी.

कब होगा कैबिनेट का गठन

आपके शहर से (शिमला)

हिमाचल प्रदेश

हिमाचल प्रदेश

14 दिसंबर को सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू दिल्ली गए थे. वहां, पर दो दिन बीताने के बाद वह 16 दिसंबर को राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल हुए, बाद में दिल्ली लौटे और हाईकमान से कैबिनेट को लेकर मंथन किया. 19 दिंसबर को सीएम को वापस शिमला लौटना था, लेकिन वह दिल्ली में कोरोना संक्रमित हो गए. अब वह दिल्ली में तीन दिन तक हिमाचल भवन में क्वारंटीन हैं. हालांकि, उनकी तबीयत ठीक है. ऐसे में अब उनके शिमला लौटने के बाद ही कैबिनेट गठन को लेकर बात आगे बढ़ेगी. अभी तक नए विधायकों का शपथ ग्रहण समारोह भी होना है और इसके लिए जल्द ही विधानसभा सत्र भी बुलाया जाएगा.

क्यों फंसा है कैबिनेट को लेकर पेच

दरअसल, शिमला से आठ सीटों में से कांग्रेस ने सात सीटें जीती हैं. यहां पर कुसुमपट्टी से तीसरी बार विधायक बने अनिरूध सिंह, कोटखाई से रोहित ठाकुर, शामिल ग्रामीण से विक्रमादिय्त सिंह सहित अन्य कुछ विधायक कैबिनेट रैंक की रेस में हैं. हालांकि, विक्रमादित्य सिंह का कैबिनेट मंत्री बनना तय है. इसके अलावा, सोलन से धनीराम शांडिल, शिलाई से हर्षवर्धन राठौर, कांगड़ा के धर्मशाला से सुधीर शर्मा, ज्वाली से चंद्र कुमार, पालमपुर से आशीष बुटेल और नगरोटा से जीते रघुबीर सिंह बाली भी मंत्री बनने रेस में हैं. कुल्लू से सुंदर सिंह, और लाहौल से रवि ठाकुर के अलावा, किन्नौर से जगत सिंह नेगी भी कैबिनेट पद की आस लगाए बैठे हैं. गौरतलब है कि हिमाचल में सीएम सहित कुल 12 मंत्री बनते हैं. सीएम और डिप्टी सीएम बनाए जा चुके हैं, जबकि अब केवल 10 पद खाली हैं और उनको लेकर खींचतान चल रही है.

Tags: CM Jairam Thakur, Himachal Congress, Himachal Pradesh Assembly Election 2022, Jairam Thakur, Sukhvinder Singh Sukhu


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button