AMAR UJALA

IND vs AUS: ऑस्ट्रेलियाई कोच का बड़बोलापन, कहा- भारत में सीरीज से पहले अभ्यास मैच की जरूरत नहीं


सिडनी. ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच एंड्रयू मैकडोनाल्ड (Andrew Mcdonald) का मानना है कि विदेशी दौरों से पहले अभ्यास मैच नहीं खेलने की उनकी रणनीति भारत के खिलाफ फरवरी-मार्च में होने वाली 4 मैचों की टेस्ट सीरीज में भी कारगर साबित होगी. यह एक तरह से उनके बड़बोलेपन को भी दिखाता है. ऑस्ट्रेलियाई टीम का बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी से (IND vs AUS) पहले अभ्यास मैच खेलने की संभावना नहीं है. टीम 9 फरवरी से नागपुर में शुरू होने वाले पहले टेस्ट क्रिकेट मैच से एक सप्ताह पूर्व ही भारत आएगी. मैकडोनाल्ड ने कहा कि भारत जाकर अभ्यास मैच खेलने और परिस्थितियों से सामंजस्य बिठाने से अधिक महत्वपूर्ण मानसिक और शारीरिक रूप से तरोताजा रहना है. ऑस्ट्रेलिया का लक्ष्य 19 साल में पहली बार भारत में सीरीज जीतना है.

सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड के अनुसार एंड्रयू मैकडोनाल्ड ने कहा, ‘हमने विदेशी दौरों पर पिछली कुछ सीरीज में अभ्यास मैच नहीं खेलने की रणनीति अपनाई है. हमें लगता है कि हमारी टीम को इस तरह के मैच अभ्यास की जरूरत नहीं है. हम पहले टेस्ट मैच से एक सप्ताह पूर्व ही भारत जाएंगे. हम तैयारियों पर बहुत अधिक समय खर्च नहीं करना चाहते हैं.’ ऑस्ट्रेलिया का पिछले साल मार्च में पाकिस्तान दौरे के समय अपनाई गई इसी तरह की रणनीति कारगर साबित हुई थी और तब उसने 3 मैचों की सीरीज 1-0 से जीती थी.

पाकिस्तान के खिलाफ भी यही रणनीति रही
ऑस्ट्रेलिया ने इस दौरान मेलबर्न में कैंप में विशेष रूप से तैयार पिचों पर अभ्यास किया और वह रावलपिंडी में खेले गए पहले टेस्ट में से एक सप्ताह पूर्व ही पाकिस्तान पहुंचा था. मैकडोनाल्ड ने कहा कि हमें लगता है कि तैयार होने और 4 टेस्ट मैचों की पूरी सीरीज के दौरान फिटनेस बरकरार रखने के लिए एक सप्ताह का समय पर्याप्त है. हमने ऐसा करके पाकिस्तान में सफलता हासिल की थी. हमने वहां पहले मैच से पूर्व काफी कम समय बिताया था.

3 दिन का कैंप
ऑस्ट्रेलिया ने इस बार भारत दौरे से पहले उन खिलाड़ियों के लिए सिडनी में 3 दिवसीय शिविर लगाने की योजना बनाई है, जो बिग बैश लीग में नहीं खेल रहे हैं. मैकडोनाल्ड ने कहा कि हम अपनी परिस्थितियां तैयार कर सकते हैं. हमने पूर्व में पाकिस्तान दौरे से पहले ऐसा किया था. हमने ऐसे विकेट तैयार किए थे, जो हमारे उद्देश्य के अनुकूल थे. उन्होंने कहा कि स्थानीय मैदानकर्मियों के साथ काम करने से हमें वास्तव में मदद मिलती है. हमें लगता है कि अभ्यास मैच खेलने के बजाय हमें इससे अधिक सहायता मिल सकती है.

गिलक्रिस्ट ने दिलाई थी जीत
ऑस्ट्रेलिया ने भारत में आखिरी बार 2004-05 में एडम गिलक्रिस्ट की अगुवाई में बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी जीती थी. वह 2017 में पुणे में पहला टेस्ट मैच जीतकर सीरीज जीतने की स्थिति में पहुंचा था, लेकिन विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय टीम ने शानदार वापसी करके 2-1 से सीरीज अपने नाम कर दी थी. ऑस्ट्रेलिया ने उस समय दुबई में आईसीसी अकादमी में विशेष रूप से तैयार पिचों पर 10 दिन तक कड़ा अभ्यास किया था. उसने पुणे में पहले टेस्ट में से पूर्व भारत में 9 दिन बिताए थे.

IND vs SL: भारत ने श्रीलंका के खिलाफ टी20 सीरीज से पहले एक नहीं 9 गलती की! पंड्या कैसे दिलाएंगे जीत?

मैकडोनाल्ड ने संकेत दिया कि वह बड़ी टीम लेकर भारत जाएंगे. उन्होंने उम्मीद जताई की गेंदबाजी के अगुआ मिचेल स्टार्क और ऑलराउंडर कैमरन ग्रीन भारत दौरे से पहले पूरी तरह फिट हो जाएंगे. उन्होंने कहा कि हां, मुझे पूरा विश्वास है कि ग्रीन तब तक पूरी तरह से फिट हो जाएंगे. हमें लगता है कि वह पहले टेस्ट में खेलने के लिए तैयार रहेगा. पीटर हैंड्सकॉम्ब, मिशेल स्वेपसन और टॉड मर्फी जैसे खिलाड़ियों को भी दौरे के लिए टीम में शामिल किया जा सकता है.

Tags: Australia, India vs Australia, Rohit sharma, Team india


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button